Saturday, 5 December 2015

महा वशीकरण सिद्ध कवच

 

      महा वशीकरण सिद्ध कवच

हमारे फेसबुक से जुड़े सभी मित्र परिचित, भाई बंधू और समस्याग्रस्त बहनों के तरक्की और विभिन्न लाभ के लिए संस्थान द्वारा समस्याओं पर शोध करते हुए इस अद्भुत कवच का निर्माण किया गया है. जिसको विधि पूर्वक धारण करते ही भिन्न भिन्न लाभ मिलना आरम्भ हो जाता है. अतः यह शरीर को स्पर्श करते ही आपके अंदर की हिप्नोटिक ऊर्जा को चार्ज करने लगता है. 

फलस्वरूप इसका लाभ आपको सम्मोहन वशीकरण के साथ आपके बिजनेश-व्यवसाय, पर भी लाभ मिलता है और सामजिक, पारिवारिक, राजनैतिक विषयों में भी लाभ देता  है. क्योंकि  महा वशीकरण सिद्ध कवच वैज्ञानिक और आध्यात्मिक रितियों से निर्माण संभव हुआ है. फलस्वरूप इसके द्वारा किसी भी पुरुष स्त्री, बच्चा बुड्ढ़ा, खुद ब खुद आपसे आकर्षित सम्मोहित होते रहते हैं. आप जिनके बारे में विचारते हैं उसकी तरफ से पहल होने की प्रगाढ़ सम्भावना बनने लगती है. 

आपकी तरफ उसका झुकाव बढ़ता ही जाता है. और वह आपसे चिपकते जाने में ही शान्ति महसूस करता है. महा वशीकरण सिद्ध कवच को धारण किये  हुए जब आप किसी से वार्ता करते हैं तो आप उस पर भारी पड़ने लग जाते है और मजबूरन उसे आपकी बात माननी ही पड़ती  है. किसी भी दुश्मन विरोधी पर आपकी नजर पड़ती ही वह ठंडा पड़ जाता है और आपसे मित्रवत व्यवहार करने को विवस होता है. आप जिस कार्य क्षेत्र से जुड़े हैं, उसकी व्यर्थ वाधा, रुकावटें ख़त्म करके आपको सफलता का मार्ग दिखाता है. 

क्योंकि दुनिया में कुछ भी असंभव नहीं है. आपकी सोंच में दम हो, इरादों  में संकल्प हो तो आपको सफल होने से कोई माई का लाल नहीं रोक सकता. अतः आपकी स्थाई  और गैर स्थाई समस्याओं को देखते हुए इस अष्टधातु निर्मित पारद और विशेष रत्नों से जड़ित करामाती महावशीकरण सिद्ध कवच का निर्माण संभव हुआ है और इसे श्रेष्ठ नक्षत्र में सिद्ध कर आपके हित में इसे अद्भुत औजार बना दिया गया है. 

अतः प्राचीन ग्रन्थ शास्त्रों के अनुसार अष्टधातु निर्मित इस कवच को ऋषि मुनियों ने भी जीवन को सफल सुखी और कार्य सिद्ध के लिए उचित उपाय बताया है. इस वशीकरण कवच के धारण से अंदर के विकार और नकारात्मक तत्त्व छिन्न भिन्न हो जाते हैं और आप पॉजिटिव सोंच के मालिक बन जाते हैं. इसी कारण आपके मुख मंडल पर कोई दिव्य आकर्षण खिल खिल जाती है. और उसी आकर्षण में सम्मोहित होकर पुरुष या कोई भी स्त्री आपसे बातचीत करके अथवा आपके बारे में विचार करके प्रसन्न हो बैठते है. 

इसके धारण से दुष्ट आत्माएं और तंत्र मन्त्र का भय या आकस्मिक दुर्घटनाओं की शंका भी ख़त्म हो जाती है. अतः इसे आजमाने के लिए नहीं, बल्कि इसका भरपूर लाभ प्राप्त करने का दृढ विचार करते हुए शुक्र या सोमवार के दिन ११:४५ बजे दिन में ११ बार इस मन्त्र का शुद्ध उच्चारण ( मन्त्र - ॐ खं खीं खें नमः ) करके गले में धारण करके आश्चर्यजनक लाभ प्राप्त करें. 

नोट - इस सम्बन्ध में किसी भी तरह की अन्य जानकारी के लिए फोन कर सकते हैं.  9565120423

नोट - हमारे बहुत से शुभचिंतको की सलाह और मांग पर घर बैठे वैज्ञानिक तकनीक से सम्मोहन शिक्षा का 30 से 45 दिनों का कोर्स पैकेज बनाया गया है जिसे आप अपने स्थान से ही हमारे मार्ग निर्देशन में सिख समझकर जीवन को अद्भुत बना सकते हैं. दुनिया में बहुत कुछ कर सकते हैं. और. दरअसल सम्मोहन, वशीकरण, टेलीपैथी ओर चक्र जागरण आदि ये सभी एक दूसरे से जुड़ा हुआ विषय है. सम्मोहन अभ्यास सही विधि और समुचित तरीके से हो, नेत्रों को किसी प्रकार का नुकशान न हो, हमारा मार्ग दर्शन आपको मिलता रहेगा. अतः आप दुनिया को हैरत में डालने वाला सम्मोहन शिक्षा प्राप्त करना चाह्ते हैं तो हमारे नम्बर पर फ़ोन कर सकते हैं. 
                             - अशोक भैया, 9565120423 गोरखपुर, ऋषिकेश, हरिद्वार, दिल्ली और मऊ  

 हमारा जीमेल एड्रेस ashokbhaiya666@gmail.com 
हमारे विशेष वेबसाइट से भी लाभ उठाये. www.ashokbhaiya999.com
                                                                           

11 comments:

  1. mujay bhi sekna ha shoman vidhay

    ReplyDelete
    Replies
    1. इसका घर बैठे कोर्स होता है. इस कोर्स में सम्मोहन, वशीकरण, कुंडलिनी जागरण और टेलीपैथी का ज्ञान मार्गदर्शन दिया जाता है. आप हमारे फेसबुक पेज से जुड़कर लाभ उठाइये या अन्य जानकारी के लिए हमें फोन कर लीजिये. ९५६५१२०४२३

      Delete
  2. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  3. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  4. आप लोग हमारे फेसबुक पेज से जुड़कर घर बैठे सम्मोहन वशीकरण चक्र जागरण और टेलीपैथी का कोर्स करने के लिए पूरी जानकारी प्राप्त करें। फेसबुक के लिए आई डी है- ashokbhaiya666@gmail.com

    ReplyDelete
  5. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  6. This comment has been removed by the author.

    ReplyDelete
  7. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  8. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  9. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete
  10. This comment has been removed by a blog administrator.

    ReplyDelete