Friday, 30 November 2012

सम्मोहन का जादू



              सम्मोहन का जादू 
          

          लोग हमसे समस्याओं का समाधान मांगते रहते हैं। मैं देता रहता हूँ। लोग प्रसन्न होते हैं। और मजा तो तब आता है, जब वे जल्दी ही कोई दूसरी समस्या लिए संपर्क करते हैं। इसीलिए मैं कहता हूँ, समस्याओं से भागिए मत उसे स्वीकारिए, फिर देखिए- किस तरह वो आपके सम्मोहन में फंसकर सिलेंडर बोल जाती है। जिस दिन समस्याओं से डर जाएंगे, उसी दिन बुढ़े हो जाएंगे। जबकि जिंदगी में कुछ करने के लिए टाईट रहना बेहद जरुरी है। तभी जिंदगी भी लाईट में आती है।
          
         मतलब चर्चे में रहने  वाली ही बात है। क्या आपने कभी चोरी की है ? यदि हाँ, और वो चोरी आपके सिवा किसी ने नहीं देखा है तो निश्चित रूप से वह चोरी नहीं कलाकारी है। और मैं कह रहा हूँ, आप एक कलाकार बानिए। यानी कल का आकार बनिए। यदि जीवन में गलती हुई है तो अफ़सोस मत करिए। बल्कि महसूस करिए। वरना आपके अन्दर की हिप्नोटिक तरंगें कम होना शुरू हो जाएगी। अर्थात नकारात्मक विचारों से घिरते चले जाएंगे। नकारात्मक सोंच कई मामलों में रूकावट का काम करता है। क्योंकि मैं समझाता हूँ, ऐसी परिस्थिति में माफ़ी मांग लेना और माफ़ कर देना ही उचित उपाय है, यही सूत्र और सिधांत आपको महामानव बना देगी।  
           
            आप पहले आदमी हैं जो मुझे पढ़ रहे हैं। इसीलिए मैं रोब से कह सकता हूँ कि, अकेला चना भी भाड़ फोड़ सकता है। एक बार मैंने किसी से कहा, मैं आपको सोना (गोल्ड) बनाने की विधि बताना चाहता हूँ। वो बोले- बताने की क्या जरुरत है, खुद ही बनाकर थोड़ी दे देना। फुरसत किसे है सिखने और सिखाने की। सोंचिए, दुनिया कितनी व्यस्त है। पूरी की पूरी जिंदगी टेंसन में। और मैं यहाँ चिल्ला-चिल्लाकर कहता हूँ, तुम अपना टेंसन हमें दे दो। हमें आदत है उन्हें कंट्रोल करने की। तो कोई सुनता ही नहीं। 
           
        यदि आपके घर-परिवार में टेंसन भरा माहौल है तो इसे 80 प्रतिशत तक दूर किया जा सकता है। आप अपनी समस्या बताएं, हमारा सहयोग मिलेगा। यदि व्यक्तिगत समस्याएँ है तो भी निश्चिन्त रहें। पारिवारिक, व्यावसायिक या सामाजिक या शारिरीक भी हो तो निःसंकोच बताएं। ये तो साधारण सी बात है। असाधारण तो तब माना जाएगा, जब समाधान का करिश्मा खुद आप करने लगेंगे। आप पहले कला कार बनने के तो मुड में आइए। बाकी काम तो अपने आप होता जाएगा।  

           ध्यान रखें- हमारे इस साईट पर सोना बनाने की विधि भी है, असाध्य विमारियों से मुक्ति का उपाय भी है। अर्थात जीवन में हर असंभव् को संभव करने का प्रयत्न किया जाता है। सम्मोहन वशीकरण कुंडलिनी जागरण की भी प्रामाणिक चर्चा की गई है। संस्थान दवारा सम्मोहन विज्ञान की अभ्यास सत्र भी आरम्भ है। अतः आप जो भी हों, जहाँ के भी हों, अपनी समस्या हमें जरुर बताएं। उससे पहले हमारे ब्लॉग मैटर अच्छी तरह से पढ़ समझ लें। हमारा सहयोग निश्चित रूप से मिलेगा। 
                                                    
                                                                                           -अशोक श्री   9565120423

Thursday, 29 November 2012

वैज्ञानिक प्रवचन


                              

                             राम नाम सत्य है 


          मैं जो भी कहूँगा, सच कहूँगा। सच के सिवा  और कुछ नहीं। संयोग से मेरी बात गले न उतरे या असत्य सी लगे तो मैं कोई भी सजा भुगतने पर न तो शर्म करूँगा न दुःख। 

                                                         ......अशोक श्री - 9565120423
              

          जीवन  की श्रेष्ठता  श्रेष्ठ कर्मों पर ही निर्भर है। सौभाग्य जब खिलता है तो किसी के मन में मानव सेवा का विचार पनपता है। ऐसा विचार निश्चित ही महापुण्य का रूप होता है। यदि आज तक आपने कोई पुण्य का काम  नहीं किया है या जीवन में हुए पापों से हमेशा भयग्रस्त रहा करते हैं तो इससे मुक्ति का मात्र एक ही रास्ता है कि, आप कोई ऐसा कार्य करें, जिसपर ज़माना गर्व कर सके। ऐसा महाअवसर हमारी ओर से आपको शीघ्र ही सुलभ होने वाला है।              
       
          बस आप चर्चा में रहिए। क्योंकि कुछ नया करने के लिए चर्चे में रहना जरुरी है, वरना कोई नहीं पूछेगा आपको या हमको। फिर होगा वही .... राम नाम सत्य है। हमें अपने व्यक्तित्व को सम्मोहक बनाना चाहिए। कुछ ऐसा सम्मोहक कि, पास से कोई गुजरे तो पलट-पलट कर देखे। फिर आपसे बात करने को वेताब हो जाय। और मैं चैलेज दे रहा हूँ, ऐसा कहीं से भी नामुमकिन नहीं है। बचपन में मेरी भी हंसी उड़ाया करते थे लोग। मगर आगे चलकर बहुतेतरे विशिष्ठ लोगों और नान विशिष्ठ लोगों के संपर्क में आया तो अन्दर से बाहर तह निखरता चला गया। अब आपको निखरते जाना है। सम्मोहन वशीकरण और कुंडलिनी जागरण से।

           विश्व शांति- रास्ट्र एकता के लिए यह ज्ञान-विज्ञान रामबाण की तरह सावित होगा। सम्मोहन, वशीकरण और कुंडलिनी जागरण से आप दुनिया में कुछ भी कर सकते हैं, इस विषय में दिलचस्पी रखते हैं तो हमसे अपने उत्सुकतापूर्ण प्रश्न पूछ सकते हैं या विषय को गंभीरता से समझ सकते हैं। लेकिन जब इसे सिखने की बात करेंगे तब आपको क्रोध मुक्ति संस्थान की सदस्यता लेनी पड़ेगी। चलिए, पहले बात करने का मुड बनाइऎ  तभी कामयाबी मिलेगी।

                                                                                                  -  अशोक श्री 
                                                                                   0-9565120423
                                                            (दिल्ली, ऋषिकेश )